अन्य खबर

बॉलीवुड की पसंद शिवगढ़ का महेश विलास पैलेस अब यूपी की पर्यटन सूची में दर्ज

रायबरेली। बॉलीवुड की पसंद शिवगढ़ पैलेस अब प्रदेश की पर्यटन सूची में दर्ज होने जा रहा है।अब जल्द ही इस क्षेत्र को पर्यटन क्षेत्र के रूप में विकसित करने की तैयारी है।जिसकी शुरुआत शिवगढ़ के पास एक पर्यटन थाना बनाकर की जा रही है।शासन की मांग पर इसके लिए प्रस्ताव बनाकर भेज दिया गया है। पर्यटन थाना बन जाने से निश्चित रूप से इस क्षेत्र का तेजी से विकास हो सकेगा और आने वाले पर्यटकों को भी सहूलियत होगी। उल्लेखनीय है कि शिवगढ़ के पास भवानीगढ़ गांव में करीब 3 बीघे जमीन को पर्यटक थाना बनाने के लिए चुना गया है जहां पर ऐसे पुलिस कर्मियों की तैनाती की जाएगी जिन्हें हिंदी के अलावा अंग्रेजी बोलने में भी दक्ष होंगे।पुलिस अधीक्षक श्लोक कुमार ने बताया कि पर्यटक थाना के संबंध में प्रस्ताव शासन को भेजा गया है,भूमि चिन्हांकन भी कर लिया गया है।

दरअसल रायबरेली से 30 किमी दूरी पर शिवगढ़ में महेश विलास पैलेस यूपी के हैरिटेज श्रेणी के छह प्रमुख पैलेस में से एक है।यहां पर एक वीमेन पॉवर इम्प्रूवमेंट लैब संचालित है जो कि भारत में अपनी तरह का अनोखा महिला सशक्तिकरण का प्रोजेक्ट है,जिसमें देश-विदेश से आने वाले लोगों का जमावड़ा रहता है।इसके अलावा महेश विलास पैलेस में बॉलीवुड की हिंदी फिल्मों की शूटिंग होती रहती है,साथ ही भोजपुरी की कई फिल्मों की शूटिंग भी यहां हो चुकी है।

प्रेम चोपड़ा की फिल्म शक, नेहिया सनेहिया, ओमपुरी की बॉलीवुड फ़िल्म गांधीगिरी, पवन सिंह के गदर टू, सैफ अली खान की बॉलीवुड फिल्म बुलेट राजा, अजय देवगन की रेड, बेवसीरीज रंगबाज, गुड्डू पांडेय की वेब सीरीज मिर्जापुर, दिनेश लाल यादव निरहुआ व अक्षरा सिंह की भोजपुरी फिल्म जान लेबू का, रणवीर शौरी की फिल्म बिंदिया, जॉन अब्राहम और दिव्या खोसला की फिल्म सत्यमेव जयते-2, फिल्म जनतारा सहित दर्जनों भोजपुरी, बॉलीवुड फिल्मों,बेव सिरीजों, धारावाहिकों एवं एलबमों की शूटिंग हो चुकी है।

स्थापत्य कला का बेजोड़ नमूना है महेश विलास पैलेस

शिवगढ़ का महेश विलास पैलेस का स्थापत्य राजस्थान की शैली का है, इसे बीकानेर के लालगढ़ की तर्ज पर बनाया गया है।दरअसल बंगाल के गौरवंशी राजाओं के वंशज यहां 19 वीं शती में आये और इस क्षेत्र में कई महलों और मंदिरो की स्थापना की।1942 में शिवगढ़ में राजा महेश सिंह ने इस पैलेस का निर्माण कराया जिसके विशाल बरामदे,डाइनिंग हॉल और दरबार हॉल अपनी खूबसूरती के लिए प्रसिद्ध हैं। 60 बड़े खम्बों पर टिका इसका विशाल बरामदा प्रसिद्ध है।पैलेस की फर्श में इटली के सुंदर संगरमरमर पत्थर लगाए गए हैं।यहां की बालकनी से पूरे कस्बे को निहारा जा सकता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button