अन्य खबर

SKM ने सरकार को 702 मृत किसानों के भेजे नाम, किसान नेता बोले- सभी मांगे पूरी होने के बाद ही हम यहां से जाएंगे

राजधानी दिल्ली में संयुक्त किसान मोर्चा की एक अहम बैठक शनिवार को सिंघू बॉर्डर पर हुई. जिसमें आंदोलन के भविष्य के बारे में फैसला लिया गया. किसान नेता योगेंद्र यादव के मुताबिक, सभी 6 मांगे सरकार के सामने रखी गई थी. सरकार ने क्या प्रोग्रेस की है, मीटिंग में चर्चा होनी के बाद एकमत से फैसला लिया जाएगा. एक साथ सभी लोग आंदोलन में आये थे और एक साथ वापस जाएंगे.

किसान नेता ने कहा कि सभी मांगे पूरी होने के बाद ही हम यहां से जाएंगे. वहीं, संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) समन्वय समिति के सदस्य डॉ. दर्शन पाल ने बताया कि कृषि सचिव को SKM ने 702 किसानों के नाम भेजे हैं, जिनकी जान आंदोलन के दरमियां चली गई.

हालांकि, आज SKM की बैठक में किसान आंदोलन की आगे की रणनीति तय होनी है. बीते दिन हरियाणा के संगठन कल सीएम खट्टर से मिले थे और उसके बाद आज संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक से पहले हरियाणा के संगठन आपस में बैठक कर रहे हैं.

आज खत्म नहीं होगा आंदोलन: राकेश टिकैत

वहीं, BKU के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने बड़ा बयान दिया है उन्होंने कहा कि दिल्ली-NCR के चारों बार्डर (सिंघु, शाहजहांपुर, टीकरी और गाजीपुर) पर एक साल से चल रहा किसानों का धरना प्रदर्शन अभी खत्म नहीं होगा. इसके साथ ही यह भी तय हो गया है कि अब लोगों को जाम से राहत नहीं मिलने जा रही है.

देश में बढ़ रही किसानों की आय: नरेंद्र तोमर

बता दें, बीते शुक्रवार कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि उत्तर प्रदेश सहित देश में किसानों की आय बढ़ रही है. इस दौरान तोमर ने राज्यसभा में जानकारी देते हुए कहा कि सरकार किसानों कल आय बढ़ाने की कार्यनीति के साथ विभिन्न कार्यक्रमों, योजनाओं और नयी नीतियों का कार्यान्यन कर रही है. उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार की मदद के जरिए किसानों की आय में वृद्धि को सुनिश्चित किया गया है. उन्होंने कहा कि पीएम-किसान योजना के तहत, एक दिसंबर 2021 की स्थिति के अनुसार, कुल 2,56,57,436 किसानों को लाभान्वित किया गया है और लगभग 38,031 करोड़ रुपए उनके बैंक खातों में भेजे गए हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button