अन्य खबर

ममता बनर्जी के वैकल्पिक मोर्चे में शामिल होंगे अखिलेश यादव! सपा अध्यक्ष का तंज- बंगाल की तरह यूपी में भी होगा बीजेपी का सफाया

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) जल्द ही बंगाल की सीएम ममता बनर्जी के नेतृत्व वाले वैकल्पिक मोर्चे में शामिल हो सकते हैं. अखिलेश यादव ने शुक्रवार को खुद इस बात का संकेत दिया था. उन्होंने कहा था कि उनके पास ममता बनर्जी (Mamata Benarjee Political Front)  के वैकल्पिक मोर्चे में शामिल होने का विकल्प खुला है. सपा अध्यक्ष ने एक बार फिर दोहराया कि यूपी से बीजेपी सरकार का सफाया हो जाएगा. अखिलेश यादव ने कहा कि जिस तरह के बंगाल चुनाव में सीएम ममता बनर्जी से बीजेपी का सफाया किया था, ठीक वैसे ही यूपी चुनाव में भी होगा.

अखिलेश यादव इन दिनों यूपी के आगामी विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) में बीजेपी को पटखनी देने के लिए मंच तैयार करने में जुटे हैं. शुक्रवार को झांसी पहुंचे अखिलेश यादव ने मीडिया से कहा था कि वह ममता बनर्जी का स्वागत करते हैं. जैसे बंगाल में उन्होंने बीजेपी (BJP) का सफाया किया ठीक वैसे ही यूपी के लोग भी बीजेपी का सफाया कर देंगे. ममता बनर्जी के मोर्चे में शामिल होने के सवाल पर अखिलेश यादव ने कहा कि सही समय पर वह इस बारे में बाच करेंगे. अखिलेश यादव ने इस दौरान कांग्रेस पर भी जमकर हमला बोला.

‘कांग्रेस को वोट नहीं देगी यूपी की जनता’

सपा अध्यक्ष ने कहा कि यूपी की जनता कांग्रेस को वोट नहीं देगी. उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को जीरो सीटें मिलेंगी. साथ ही प्रियंका के हमले पर भी पलटवार किया. दरअसल अपनी मुरादाबाद रैली में प्रियंका ने अखिलेश यादव पर सवाल उठाते हुए पूछा था कि जब लखीमपुर खीरी में मंत्री अजय मिश्रा के बेटे ने किसानों को गाड़ी से रोंद दिया था उस समय सपा अध्यक्ष कहां गायब थे.

‘बीजेपी का यूपी से होगा सफाया’

वहीं अब कांग्रेस पर हमलावर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव का कहना है कि यूपी की जनता के कांग्रेस को खारिज कर दिया है. उन्होंने कहा कि सपा ने 2017 में कांग्रेस के साथ मिलकर चुनाव लड़ा था, लेकिन उनका अनुभव अच्छा नहीं रहा. सपा अध्यक्ष इस दौरौना पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे को लेकर बीजेपी पर हमला बोलने नहीं भले. उन्होंने दावा किया कि सपा द्वारा शुरू किी गईं परियाजनाओं का क्रेडिट बीजेपी ले रही है. उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि अगर सपा एक्सप्रेस-वे 22 महीने में बनवा सकती है, तो बीजेपी को इसी काम में 4.5 साल क्यों लगे. उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी राज्य की जनता की भलाई के लिए काम नहीं करना चाहती है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button