अन्य खबर

ओमीक्रोन का खौफ: AKTU के छात्रों ने ऑफलाइन परीक्षा से किया इनकार

लखनऊ: Omicron Variant के बढ़ते मामलों को देखते हुए उत्तर प्रदेश के इंजीनियरिंग और मैनजमेंट कॉलेजों में पढ़ने वाले छात्रों ने ऑफलाइन परीक्षाओं से इनकार कर दिया है. यह डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय (AKTU) के छात्र हैं. इसको लेकर छात्रों ने बकायदा सोशल मीडिया पर अभियान शुरू किया गया है. AKTU छात्रसंघ के नाम से बने ट्विटर हैंडल से ऑफलाइन परीक्षाओं को लेकर छात्रों ने आपत्ति जताई गई है.

इन छात्रों का कहना है कि ओमीक्रॉन का खतरा फैल रहा है. हाल में मैनपुरी के सैनिक स्कूल में कई छात्र कोरोना संक्रमित हुए हैं. इन हालातों में ऑफलाइन परीक्षा कराकर छात्रों की जान को जोखिम में न डाला जाए. पूर्व की तरह इस बार भी ऑनलाइन परीक्षा कराई जाए. उधर, विश्वविद्यालय प्रशासन का दावा है कि छात्रों के हित और सुरक्षा का पूरा ध्यान रखने के बाद ही कोई फैसला होगा.

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में डॉ.एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय (AKTU) से जुड़े कॉलेजों की संख्या करीब 750 है. इनमें दो लाख से ज्यादा छात्र-छात्राएं इंजीनियरिंग, फार्मेसी, मैनेजमेंट जैसे तकनीकी पाठ्यक्रमों में अध्ययनरत हैं. इनकी सेमेस्टर परीक्षाएं दिसम्बर जनवरी में प्रस्तावित हैं.

यह है छात्रों का तर्क

सोशल मीडिया पर रीतेश यादव लिखते हैं, ‘Omicron Variant का भारत में 21 केस सामने आएं हैं, अगर इसी प्रकार विवि प्रशासन ऑफलाइन परीक्षा कराने की जिद पर अड़ा रहा तो यह संख्या काफी ज्यादा बढ़ सकती है. पर्याप्त संसाधन होने के बाद भी AKTU अगर ऑनलाइन परीक्षा नहीं ले सकता तो यह एक तकनीकी विश्वविद्यालय के लिए दुखद है.’

वहीं एक यूजर प्रेम प्रकाश लिखते हैं कि ‘उनका क्या है वो तो बंद गाड़ी में आएंगे. सेनिटाइजर लेकर, फिर सबको मास्क लगाने का ज्ञान देकर चले जाएंगे. छात्र जो धक्का मुक्की में एग्जाम देने जाए. कोई हताहत हुआ तो उसके जिम्मेदार AKTU वाले ही होंगे.

पिछली बार कराई थी ऑनलाइन परीक्षाएं
ऐसा नहीं है कि एकेटीयू के पास ऑनलाइन परीक्षाओं को लेकर विकल्प नहीं है. विश्वविद्यालय में जून-जुलाई से समय हुई सेमेस्टर परीक्षाएं ऑनलाइन ही कराई गई थी. जिसमें बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं शामिल हुए थे.
यह हैं परीक्षा की तैयारियां
एकेटीयू की ओर से सेमेस्टर परीक्षाओं को लेकर तैयारी शुरू कर दी गई हैं. इसके लिए तीन दिसम्बर को एक निर्देश भी जारी किया गया है. इसके तहत, वर्ष 2021-22 के विषम सेमेस्टर (स्नातक एवं परास्नातक) के रेगुलर तथा कैरीओवर की परीक्षाओं के फार्म भरने के निर्देश दिए गए हैं. यह फार्म ईआरपी के माध्यम से 16 दिसम्बर तक भरे जाने हैं. विश्वविद्यालय ने रीएडमिटेड और एक्स स्टूडेंट्स के फार्म भी कॉलेज के स्तर पर ही भरे जाने के लिए कहा गया है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button