अन्य खबर

तमिलनाडु में हेलिकॉप्टर क्रैश में CDS जनरल बिपिन रावत और पत्नी मधुलिका की मौत

तमिलनाडु के कुन्नूर के पास भारतीय वायुसेना का MI-17V5 हेलिकॉप्टर बुधवार को दुर्घटना का शिकार हो गया. इस हेलिकॉप्टर हादसे में प्रमुख रक्षा अध्यक्ष (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका सहित 13 लोगों की मौत हो गई है. वहीं, एक जवान गंभीर रूप से घायल हो गया है, जिसका इलाज सैन्य अस्पताल में किया जा रहा है. वायुसेना ने कहा कि दुर्घटना की ‘कोर्ट ऑफ इंक्वायरी’ के आदेश दे दिए गए हैं.

भारतीय वायुसेना ने ट्वीट कर बताया कि चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत बुधवार को स्टाफ कोर्स के फैकल्टी और स्टूडेंट्स ऑफीसर्स को संबोधित करने के लिए डिफेंस सर्विसेज स्टाफ कॉलेज, वेलिंगटन (नीलगिरी हिल्स) के दौरे पर थे. आज दोपहर के आसपास वायुसेना के एक Mi-17V5 हेलिकॉप्टर में चार क्रू मेंमर्स, CDS और 9 अन्य यात्रियों सवार थे, जो कि तमिलनाडु के कुन्नूर के पास एक दुखद दुर्घटना का शिकार हो गए.

वायुसेना ने कहा, ‘गहरे अफसोस के साथ अब यह पता चला है कि इस दुर्भाग्यपूर्ण दुर्घटना में जनरल बिपिन रावत, श्रीमती मधुलिका रावत और उसमें सवार 11 अन्य लोगों की मौत हो गई है.’ वहीं, जीपी कैप्टन वरुण सिंह एससी का वेलिंगटन के सैन्य अस्पताल में इलाज किया जा रहा है.

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने जताया गहरा दुख

इस हादसे पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने दुख जताया है. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि तमिलनाडु में आज दुर्भाग्यपूर्ण हादसे के कारण सीडीएस बिपिन रावत, उनकी पत्नी और सशस्त्र बलों के 11 जवानों के अचानक निधन पर काफी दुखी हूं. उनका असमय निधन सशस्त्र बलों और देश के लिए अपूरणीय क्षति है.

हेलिकॉप्टर से दिखाई दीं उठती लपटें

बता दें कि टेलीविजन पर दिखाई जा रही फुटेज में, बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हेलिकॉप्टर से आग की लपटें उठती दिखीं. हेलिकॉप्टर के मानव बस्ती से दूर दुर्घटनाग्रस्त होने से एक बड़ी त्रासदी होने से हालांकि बच गई. दुर्घटनास्थल पर भारतीय वायुसेना के हेलिकॉप्टर के क्षतिग्रस्त और जले हुए टुकड़े बिखरे पड़े थे. स्थानीय प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि उन्होंने तेज आवाज सुनी, जाहिर तौर पर हादसे की आवाज थी, और बाद में हेलिकॉप्टर में आग लगी, जिसमें उसमें सवार कुछ लोग गंभीर रूप से झुलस गए.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button