राष्ट्र-राज्य

मदर डेयरी का दूध खरीदना रविवार से हो जाएगा महंगा, कीमतों में 2 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी का ऐलान

अमूल के बाद अब मदर डेयरी का दूध खरीदना भी महंगा होने वाला है. कंपनी दिल्ली-एनसीआर में अपने दूध की कीमतों में दो रुपये प्रति लीटर का इजाफा करने वाली है. बढ़ी हुई कीमतें रविवार से लागू होंगी. कंपनी ने दूध की कीमतों में बढ़ोतरी के पीछे वजह खरीदारी की लागत बढ़ने को बताया है. इससे पहले अमूल और पराग मिल्क ने अपनी कीमतों में दो रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी का ऐलान किया था.

कंपनी ने शनिवार को एक बयान में कहा कि खरीद की कीमतों (किसानों को भुगतान किए जाने वाली राशि), तेल की कीमत और पैकेजिंग मैटेरियल की कीमत में बढ़ोतरी को देखते हुए, मदर डेयरी दिल्ली-एनसीआर में अपने लिक्विड दूध की कीमतों में दो रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी करने जा रही है, जो 6 मार्च 2022 से प्रभावी होगी.

नई कीमतें

फूल क्रीम दूध की कीमत रविवार से 59 रुपये प्रति लीटर होगी. यह शनिवार को 57 रुपये प्रति लीटर पर है.

टोन्ड दूध की कीमतें बढ़कर 49 रुपये हो गईं हैं, जबकि डबल टोन्ड दूध का दाम बढ़कर 43 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया है. गाय के दूध की कीमतें भी 49 रुपये प्रति लीटर से बढ़कर 51 रुपये प्रति लीटर हो गईं हैं. वहीं, बल्क वेंडेड मिल्क (यानी टोकन मिल्क) की कीमतों को 44 रुपये प्रति लीटर से बढ़ाकर 46 रुपये प्रति लीटर कर दिया गया है.

कंपनी ने दिल्ली-एनसीआर के अलावा हरियाणा, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में भी कीमतों में दो रुपये प्रति लीटर का इजाफा कर दिया है. कंपनी के मुताबिक, इन चुनिंदा क्षेत्रों से बाहर की जगहों पर कीमतों में बदलाव चरणबद्ध तरीके से किया जाएगा.

कंपनी ने कीमतों में बढ़ोतरी के पीछे क्या वजह बताई?

मदर डेयरी देश भर में 100 से ज्यादा शहरों में उपलब्ध है. कंपनी ने बयान में बताया कि वह इनपुट की लागत में बढ़ोतरी देख रही है, जो कई गुना बढ़ गई है. खरीद की कीमत (किसान को भुगतान किए जाने वाली राशि) अकेले ही जुलाई 2021 से करीब 8 से 9 फीसदी बढ़ गई है. दूसरी लागत में भी इजाफा हुआ है.

मदर डेयरी ने कहा कि कृषि की कीमतों में बढ़ोतरी को आगे ग्राहकों तक केवल आंशिक तौर पर पहुंचाया जा रहा है, जिसमें प्रभावी बदलाव केवल चार फीसदी है. कंपनी ने कहा कि यह कृषि की कीमतों में देखी गई बढ़ोतरी और कुल खाद्य महंगाई के मुकाबले कम है, जिससे दोनों हितधारकों के हितों की रक्षा होती है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button