खेल-खिलाड़ी

टीम इंडिया की हार ने राहुल द्रविड़ के सामने खड़ी की चुनौती, बैटिंग ऑर्डर को लेकर करनी होगी माथापच्ची

टीम इंडिया ने साउथ अफ्रीका दौरे की शुरुआत शानदार तरीके से की थी. टीम ने तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में जीत के साथ शुरुआत की. सेंचुरियन में उन्होंने ऐतिहासिक जीत हासिल की. हालांकि टीम ने जिस तरह शुरुआत की अगले मैच में उसे कायम नहीं रख सके और हाई गई. जोहानिसबर्ग टेस्ट में टीम को हार का सामना करना पड़ा. पूर्व भारतीय विकेटकीपर सबा करीम (Saba Karim) ने कहा कि अब यह राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) की जिम्मेदारी कि वह टीम को इस उतार-चढ़ाव से बाहर लाएं.

भारतीय टीम ने आज तक साउथ अफ्रीका (South Africa) में कभी कोई टेस्ट सीरीज नहीं जीती है. वह केवल चार टेस्ट मैच जीतने में ही कामयाब हो पाई थी. जब टीम सेंचुरियन में टेस्ट जीत हासिल करने वाली पहली टीम बनी तो फैंस को उम्मीद थी कि वह जोहानिसबर्ग में सीरीज में अपने नाम कर लेगी. हालांकि साउथ अफ्रीका ने जीत के साथ टीम इंडिया को दोबारा बैकफुट पर पहुंचा दिया.

राहुल द्रविड़ के सामने बड़ी चुनौती

सबा करीम ने कि राहुल द्रविड़ के सामने इस उतार-चढ़ाव के ग्राफ को मिटाना सबसे बड़ी चुनौती होगी. उन्होंने कहा, ‘इस अनिरंतरता का मुख्य कारण यह है कि, एक टेस्ट मैच जो हम खेलते हैं, हम अपनी पूरी एनर्जी और इंटेंसिटी के साथ खेलते हैं लेकिन अगले मैच में हमारी एनर्जी और यूनिटी में कमी नजर आती है.’ उन्होंने आगे कहा, ‘अगर हम ध्यान से विश्लेषण करें, तो हम देख सकते हैं कि हमारे सभी खिलाड़ी एक साथ एक विशेष टेस्ट मैच के लिए एक सुपरपावर है. लेकिन एक सीरीज जीतने के लिए आपको यही इंटेंसिटी सभी मैचों में दिखानी पड़ेगी. हम एक मैच में पूरे 15 सेशन में इंटेंट दिखाते हैं लेकिन अगले मैच के 15 सेशन में हमें जिस फ़ोर्स और तैयारी की आवश्यकता होती है वह गायब रहती है और इस वजह से यह ग्राफ ऊपर-नीचे है.’

बैटिंग ऑर्डर पर लेना होगा बड़ा फैसला

सबा करीम ने कहा कि टीम मैनेजमेंट को बैटिंग ऑर्डर को लेकर फैसला करना होगा. उन्होंने कहा, ‘राहुल द्रविड़, कप्तान और चयन समिति को यह तय करना चाहिए कि यह टीम और जिस बैटिंग ऑर्डर के साथ वे खेल रहे हैं वह काम कर रहा है या नहीं. उन्हें यह तय करना चाहिए कि इन खिलाड़ियों को रखना है या युवा खिलाड़ियों को लाना है, जिन्हें घरेलू सर्किट का काफी अनुभव है और अच्छे फॉर्म से गुजर रहे हैं. उन्हें यह देखने की जरूरत है कि क्या ये नए खिलाड़ी टीम में वैल्यू जोड़ पाएंगे.’

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button