खेल-खिलाड़ीबड़ी खबर

Australian Open चैंपियन बने राफेल नडाल, 21वां ग्रैंड स्लैम जीतकर रचा इतिहास, फाइनल में मेदवेदेव को हराया

स्पेन के दिग्गज टेनिस स्टार राफेल नडाल (Rafael Nadal) ने इतिहास रच दिया है. नडाल ने ऑस्ट्रेलियन ओपन 2022 (Australian Open 2022) का खिताब अपने नाम कर 21वां ग्रैंड स्लैम जीता और विश्व रिकॉर्ड बना दिया. इस तरह नडाल मेंस सिंगल्स में सबसे ज्यादा ग्रैंड स्लैम खिताब जीतने वाले खिलाड़ी बन गए हैं. नडाल ने रोजर फेडरर और नोवाक जोकोविच को पछाड़कर ये रिकॉर्ड बनाया. नडाल ने 5 घंटे 24 मिनट तक चले लंबे और संघर्षपूर्ण फाइनल में रूस के दानिल मेदवेदेव (Daniil Medvedev) को 2-6, 6-7, 6-4, 6-4, 7-5 से हराकर दूसरी बार ऑस्ट्रेलियन ओपन का खिताब अपने नाम किया. वहीं लगातार दूसरे साल मेदवेदेव को ऑस्ट्रेलियन ओपन में हार का सामना करना पड़ा है.

35 साल के राफेल नडाल ने अपने से 10 साल छोटे रूसी स्टार को पांच सेट तक चले इस मुकाबले में जोरदार टक्कर दी और लंबी रैलियों और गेम के बावजूद थकान को हावी नहीं होने दिया. 11 साल पहले इसी टूर्नामेंट के फाइनल में नडाल को साढ़े पांच घंटे से ज्यादा लंबे चले मुकाबले में नोवाक जोकोविच से हार झेलनी पड़ी थी. वह ग्रैंड स्लैम इतिहास का सबसे लंबा फाइनल है. अब 11 साल बाद नडाल ने एक और लंबा फाइनल खेलकर जोकोविच को पीछे छोड़ दिया.

टूर्नामेंट खेलना था मुश्किल, अब बने चैंपियन

इस टूर्नामेंट से कुछ ही हफ्ते पहले नडाल को सर्जरी से गुजरना पड़ा था और उनका टूर्नामेंट में हिस्सा लेना भी संदेह के दायरे में था, लेकिन नडाल ने इन सबको पीछे छोड़ा और साथ ही कई कड़े मुकाबले के बाद फाइनल में एंट्री की, जहां उनका मुकाबला सबसे बेहतरीन फॉर्म में चल रहे मेदवेदेव से था. फाइनल की शुरुआत ही मेदवेदेव के अंदाज में हुई और उन्होंने पहले दोनों सेट जीत लिए. फिर नडाल ने अपने लंबे करियर वाले अंदाज में जुझारूपन दिखाया और ऐतिहासिक वापसी की.

पहले दो सेट मेदवेदेव के नाम

पहले सेट के पांचवें और सातवें गेम में मेदवेदेव ने लगातार दो बार नडाल की सर्विस ब्रेक की. नडाल ने कई अनफोर्स्ड एरर किए, जिसके कारण उन्होंने पॉइंट्स हासिल करने के आसान मौके भी गंवाए और मेदवेदेव ने आसानी से 6-2 से सेट जीत लिया. दूसरे सेट में नडाल ने जोरदार प्रदर्शन किया और मेदवेदेव की सर्विस तोड़ते हुए 4-1 की बढ़त ले ली. इस दौरान नडाल ने कुछ बेहतरीन ड्रॉप शॉट खेले, जिनका मेदवेदेव के पास जवाब नहीं था. लेकिन मेदवेदेव ने खुद अपने जुझारू खेल से वापसी करते हुए नडाल की सर्विस पर गेम जीत लिया और लंबी टक्कर के बाद सेट को टाइब्रेकर में पहुंचा दिया. टाईब्रेकर में भी कांटे की टक्कर हुई, लेकिन मेदवेदेव ने 7-5 से इसे जीतकर 7-6 से सेट अपने नाम कर लिया.

तीसरे-चौथे सेट में जबरदस्त वापसी

तीसरे सेट में नडाल ने अपना पूरा दम लगाया और इसका उन्हें अच्छा परिणाम भी मिला. स्टेडियम में मौजूद दर्शकों का नडाल को मिल रहे समर्थन का असर मेदवेदेव के खेल पर दिखा और वह ड्रॉप शॉट्स के चक्कर में कई गलतियां कर बैठे और सेट 4-6 से गंवा दिया.

तीसरा सेट जीतकर नडाल मुकाबले को चौथे सेट में ले जाने में कामयाब रहे और इस सेट में सबसे कड़ा मुकाबला हुआ. पहले 5 गेम में ही 3 बार दोनों खिलाड़ियों ने सर्विस ब्रेक की. नडाल ने छठें गेम में आते हुए 4-2 की बढ़त ले ली और फिर मेदवेदेव के पास नडाल की सर्विस ब्रेक करने का मौका था, लेकिन उन्होंने उसे गंवा दिया और फिर नडाल ने पीछे मुड़कर नहीं देखा और सेट 6-4 से जीतकर मुकाबले को 2-2 कर दिया.

पांचवें सेट का जबरदस्त मुकाबला

पांचवें सेट में नडाल ने 3-2 की बढ़त हासिल की, लेकिन छठें गेम में मेदवेदेव के पास वापसी का मौका था. फिर भी नडाल डटे रहे और 4 ब्रेक पॉइंट्स बचाकर 4-2 की बढ़त ले ली. यहां से दोनों खिलाड़ी लंबे-लंबे गेम खेलते रहे और एक गेम खत्म करने में भी काफी टाइम लगा. खास तौर पर मेदवेदेव ने नडाल की सर्विस पर जीत के मौके बनाए, लेकिन स्पेनिश दिग्गज ने फिर भी अपने अनुभव के दम पर उन्हें जीता.

मैच में मोड़ तब आया, जब 5-4 से आगे चल रहे नडाल 10वें गेम में चैंपियनशिप के लिए सर्विस कर रहे थे. वह 30-0 से आगे थे, लेकिन मेदवेदेव ने इस गेम को जीतकर मुकाबले को 5-5 से बराबर कर लिया. मेदवेदेव के पास अगले गेम में सर्विस के दम पर आगे निकलने का मौका था, लेकिन इस बार नडाल ने रुख मोड़कर 6-5 की बढ़त हासिल करते हुए दूसरी बार चैंपियनशिप के लिए सर्विस का मौका हासिल किया. आखिरकार 12वें गेम में नडाल ने निर्णायक जीत दर्ज करते हुए खिताब और इतिहास अपने नाम कर लिया.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button