उत्तर-प्रदेशबड़ी खबर

लखनऊ की हाई प्रोफाइल सीट से रीता बहुगुणा जोशी के बेटे को टिकट देने की तैयारी में सपा, BJP को मिल सकता है बड़ा झटका

उत्तर प्रदेश  के विधानसभा चुनाव में लड़ाई रोचक होती जा रही है. जहां समाजवादी पार्टी ने बीजेपी के बाद लखनऊ कैंट विधानसभा चुनाव सीट से बीजेपी की सांसद रीता बहुगुणा जोशी के बेटे मयंक जोशी को मैदान में उतारने की संभावना है. वहीं, सूत्रों के अनुसार बीजेपी ने टिकट देने से इनकार कर दिया है. हालांकि सपा ने लखनऊ की सभी सीटों के लिए अपने उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है, लेकिन उनमें से मयंक जोशी के लिए जगह बनाने की संभावना है. जिनमें लखनऊ कैंट से मयंक जोशी का नाम सबसे चर्चित है.

दरअसल, बीजेपी सांसद रीता बहुगुणा जोशी ने साल 2017 का विधानसभा चुनाव लड़ा था और लखनऊ छावनी से तत्कालीन सपा उम्मीदवार अपर्णा यादव को हराया था. हालांकि इससे पहले, बीजेपी ने मयंक जोशी को टिकट देने से इनकार कर दिया और लखनऊ छावनी सीट से राज्य के कानून मंत्री ब्रजेश पाठक को मैदान में उतारा. वहीं, बीजेपी सांसद रीता बहुगुणा जोशी ने यहां तक ​​कि अगर उनके बेटे मयंक जोशी को आगामी राज्य विधानसभा चुनावों में लखनऊ कैंट सीट से टिकट नहीं मिलने पर वो अपनी लोकसभा सदस्यता छोड़ने की पेशकश की थी. मगर उनके बेटे को टिकट नहीं दिए जाने के बाद उन्होंने कहा कि वह पार्टी के फैसले का सम्मान करती हैं.

बीजेपी सांसद ने लखनऊ कैंट सीट पर अपने बेटे के टिकट की मांग की

बता दें कि बीजेपी सांसद ने लखनऊ कैंट सीट पर टिकट की मांग की है, जिस पर उन्होंने 2017 में सपा नेता अपर्णा यादव को हरा कर चुनाव लड़ा था. वहीं, इससे पहले मंगलवार को बीजेपी ने आगामी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों के लिए 17 और उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की और सरोजनी नगर से ED (प्रवर्तन निदेशालय) के पूर्व डायरेक्टर राजेश्वर सिंह को मैदान में उतारा है. इसके साथ ही विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित को टिकट देने से इनकार कर दिया. हालांकि बीजेपी ने राज्य के कानून मंत्री ब्रजेश पाठक को लखनऊ कैंट से जबकि आशुतोष शुक्ला को भगवंतनगर विधानसभा क्षेत्र से टिकट दिया है.

रीता बहुगुणा जोशी ने 2017 में लखनऊ कैंट सीट से लड़ा था बीजेपी के टिकट पर चुनाव

गौरतलब है कि राजधानी लखनऊ उत्तर से नीरज बोरा और चित्रकूट से चंद्रिका प्रसाद उपाध्याय को टिकट दिया गया है. वहीं, बीते 24 साल कांग्रेस की सेवा करने के बाद जोशी 2016 में बीजेपी में शामिल हुए. वह केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की उपस्थिति में पार्टी में शामिल हुईं और 2017 में लखनऊ कैंट सीट से बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ा था. बता दें कि यूपी में 403 विधानसभा क्षेत्रों के लिए चुनाव 10 फरवरी से सात चरणों में होंगे. वहीं, उत्तर प्रदेश में मतदान 10 फरवरी , 14, 20, 23, 27 और 3 और 7 मा र्च को सात चरणों में होंगे. मतों की गिनती 10 मार्च को होगी.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button