उत्तर-प्रदेश

सैदपुर सीट से अपने दोस्त के लिए दिनेश लाल निरहुआ ने मांगे वोट, कहा- BSP के सहयोग से जीतेगी बीजेपी

उत्तर प्रदेश में चल रहे हैं विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सातवें चरण में पूर्वांचल की 10 जिलों में चुनाव होना है,जिसको लेकर सभी राजनीतिक दल अपने-अपने स्टार प्रचार को के माध्यम से चुनाव प्रचार कर अपने वोटरों को रिझाने में लगी हुई है. इसी कड़ी में बीजेपी- निषाद पार्टी गठबंध नें सैदपुर विधानसभा से प्रत्याशी सुभाष पासी के समर्थन में शुक्रवार को बीजेपी नेता दिनेश लाल निरहुआ केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के जनसभा कार्यक्रम में शामिल होने के लिए पहुंचे.इसी कार्यक्रम में मीडिया से बातचीत करते हुए दिनेश लाल निरहुआ ने कहा कि बीजेपी को बसपा का समर्थन प्राप्त है आज निरहुआ मीडिया से शुद्ध भोजपुरी में बातचीत किया तो, वहीं मीडिया कर्मियों ने भी भोजपुरी में ही उनसे सवाल किया.

दरअसल, दिनेश लाल यादव निरहुआ ने मीडिया के एक सवाल का जवाब देते हुए कहा कि बीजेपी को बीएसपी का समर्थन प्राप्त है.निरहुआ के अनुसार हाथी उनके(BJP के साथ है). ऐसा उन्होंने मीडिया के एक सवाल के उत्तर में कहा, वहीं उन्होंने 2017 के गठबंधन पर तंज करते हुए कहा कि साइकिल उसी वक्त पंचर हो गई थी, जब राजनीतिक गठबंधन कर साइकिल पर हाथी सवार हो गई थी. ऐसे में साइकिल-हाथी का वजन उठाने में असमर्थ हो गई थी और इस बार तो पूरी तरह से उसका टायर भर्स्ट हो जाएगा.

बीजेपी नेता दिनेश यादव ने सपा सुप्रीमों पर कसा तंज

वहीं, बीजेपी नेता निरहुआ ने बताया कि हर तरफ कमल का वर्चस्व दिख रहा है. ऐसे में निरहुआ यहीं नहीं रुके उन्होंने सपा के राष्ट्रीय अध्य़क्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) पर सियासी तंज करते हुए कहा कि अखिलेश वैक्सीन का ही विरोध करने लगे थे.उन्होंने लोगों से यहां तक कहा कि वैक्सीन बीजेपी की है और लोग उसे ना लगवाएं. क्या अखिलेश यादव गरीब लोगों के कोरोना के कारण होने वाली मौत की जिम्मेदारी लेंगे? अखिलेश यादव जो भी कहते हैं वह गलत ही कहते हैं .अखिलेश यादव मंदिर निर्माण के नाम पर कहते हैं कि बीजेपी के लोग चंदा जीवि हैं .निरहू ने समाजवादी पार्टी को जिन्ना वादी पार्टी करार दिया.

ओपी राजभर हारने के बाद BJP में ही वापस आएंगे- निरहुआ

गौरतलब है कि निरहुआ ने ओमप्रकाश राजभर पर सियासी तंज कसते हुए कहा कि वह बिन पेंदी के लोटा हैं. वह कब किस तरफ होंगे यह नहीं कहा जा सकता. इस दौरान उन्होंने बताया कि ओमप्रकाश राजभर पूरी तरीके से परिवारवाद की राजनीति करते हैं. जबकि बीजेपी में ऐसा कतई नहीं होता. निरहुआ ने यह भी कहा कि अंत में वह (ओपी राजभर)हारने के बाद बीजेपी में ही वापस आएंगे.

दिनेश लाल यादव उर्फ निरहुआ गाजीपुर जिले में मौधिया गांव के हैं निवासी

बताते चलें कि दिनेश लाल यादव उर्फ निरहुआ गाजीपुर जनपद के मौधिया गांव के रहने वाले है. ऐसे में सैदपुर प्रत्याशी सुभाष पासी जोकि मुंबई में भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री में अपना खासा रसूख रखते हैं. ऐसे में निरहुआ भी सुभाष पासी के ही सानिध्य पाकर आज एक चर्चित भोजपुरी गायक और कलाकार के साथ ही फिल्मी कलाकार भी बने है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button