बड़ी खबरराष्ट्र-राज्य

भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर को भोपाल एयरपोर्ट से हिरासत में लिया गया, OBC आंदोलन में होना था शामिल

मध्य प्रदेश में जारी ओबीसी आरक्षण (OBC Reservation Protest) से जुड़े आंदोलन में शामिल होने के लिए भोपाल पहुंचे भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद को पुलिस ने एयरपोर्ट से ही हिरासत में ले लिया है. भीम आर्मी के पदाधिकारियों ने ट्वीट कर बताया कि पुलिस एयरपोर्ट पर पहले से ही चंद्रशेखर का इंतजार कर रही थी और उन्हें बाहर आते ही हिरासत में ले लिया गया. उधर ओबीसी आरक्षण को लेकर सियासत उफान पर है जिसके बाद भोपाल में आने वाली ट्रेनों और बसों को पुलिस चेक कर रही है. शहर में प्रवेश करने वाले रास्तों पर बैरिकेड्स लगाकर चेक किया जा रहा है. ओबीसी संगठनों ने आज मुख्यमंत्री निवास के घेराव का ऐलान किया था जिसके बाद पुलिस सख्ती बरत रही है.

मिली जानकारी के मुताबिक ओबीसी संगठनों के प्रदर्शन के ऐलान के बाद रविवार को पुलिस ने जगह-जगह संगठन के कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया है. काफी लोग सुबह से ही एमएलए रेस्ट हाउस के पास इकट्ठा हो रहे थे, ये सभी ओबीसी संगठनों के कार्यकर्ता बताए जा रहे हैं. पुलिस ने इनसे हटने के लिए कहा लेकिन ऐसा न होने पर इन्हें हिरासत में लेकर बसों से दूसरी जगह भेजा जा रहा है. ओबीसी संगठन 27% आरक्षण की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं, ये लोग नगरीय निकाय एवं पंचायत चुनाव में पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) आरक्षण खत्म करने से नाराज़ हैं.

पुलिस सतर्क, आंदोलनकारी गिरफ्तार

ओबीसी संगठनों के ऐलान को देखते हुए पुलिस ने सीएम आवास की तरफ जाने वाले सभी रास्तों को सील कर दिया है. प्रशासन ने कोरोना और शांतिभंग की आशंका को देखते हुए संगठनों से जुड़े 8 पदाधिकारियों को नोटिस भेजा है. एमएलए रेस्ट हाउस के पास ओबीसी महासभा के 100 से ज्यादा कार्यकर्ता इकट्ठा हुए थे जिन्हें हिरासत में लिया गया है. परवलिया, होशंगाबाद रोड, लालघाटी, गांधीनगर, विदिशा रोड, रायसेन रोड, करोंद चौराहा से भी ओबीसी से जुड़े संगठनों, जयस, भीम आर्मी के कार्यकर्ता और पदाधिकारियों को गिरफ्तार किया गया है.

OBC संगठनों ने किया था प्रदर्शन का ऐलान

इससे पहले ओबीसी महासभा दो जनवरी को एक दिवसीय अधिकार एवं जन महाआंदोलन आयोजित करने का ऐलान किया था. इसमें ओबीसी वर्ग को 51 प्रतिशत आरक्षण पर चर्चा की जानी थी और इसमें भीम आर्मी, जयस, आजाद समाज पार्टी (कांशीराम) के शामिल होने वाली थीं. इन संगठनों ने दो जनवरी को मुख्यमंत्री आवास का घेराव करने का भी ऐलान किया हुआ था. ओबीसी महासभा ने जन महाआंदोलन के लिए सूचना पत्र भी जारी किया है. इसमें बताया गया है कि भोपाल में 2 जनवरी को ये आंदोलन प्रस्तावित है.

संगठनों की मांग है कि ओबीसी आरक्षण 27 प्रतिशत कर संसद या 9वीं अनुसूची में शामिल करने, बीजेपी सरकार द्वारा पंचायत चुनाव में पिछड़ा वर्ग को 51 प्रतिशत आरक्षण दिया जाए. अनुसूचित जाति को 8 प्रतिशत आरक्षण के विरुद्ध जनसंख्या के अनुसार 16 प्रतिशत आरक्षण दें, अनुसूचित जनजाति को 14 प्रतिशत आरक्षण के विरुद्ध जनसंख्या के मान से 20 प्रतिशत आरक्षण दिया जाए. आंदोलन के बहाने भीम आर्मी, जय आदिवासी संगठन, आजाद समाज पार्टी शामिल होने वाले थे.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button