उत्तर-प्रदेश

आरके तिवारी बने परिवहन निगम के अध्यक्ष, इफ्तिखारुद्दीन वेटिंग में; 85 आईएएस अफसरों को मिला प्रमोशन का तोहफा

उत्तर प्रदेश की नौकरशाही में बड़े बदलाव हुए हैं. हाल ही में मुख्य सचिव के पद से हटाए गए वरिष्ठ आईएएस अधिकारी राजेंद्र कुमार तिवारी को सरकार ने नई जिम्मेदारी दी है और उन्हें उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम का अध्यक्ष बनाया गया है. वहीं अब तक इस पद पर तैनात 1985 बैच के आईएएस अधिकारी मोहम्मद इफ्तिखारुद्दीन को वेटिंग में रखा है. गौरतलब है कि उनके खिलाफ दूसरे धर्म के लोगों के खिलाफ विवादित बयान देने के मामले में एसआईटी ने जांच सरकार को सौंप दी थी.

दो दिन पहले ही राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार ने राज्य में चीफ सेक्रेटरी को बदला था और दुर्गाशंकर मिश्रा को राज्य का नया चीफ सेक्रेटरी नियुक्त किया था. जबकि राजेन्द्र कुमार तिवारी को अब राज्य सरकार ने परिहन निगम का अध्यक्ष नियुक्त किया है. वहीं इस पद पर तैनात इफ्तिखारुद्दीन को वेटिंग में रखा है. असल में पिछले कुछ दिनों वह दूसरे धर्मों के खिलाफ विवादित बयान देने और धर्मांतरण के मामले में विवादों में फंस गए थे. इफ्तिखारुद्दीन के कानपुर मंडलायुक्त रहते हुए उनके सरकारी आवास पर धार्मिक कार्यक्रम और जलसे करने के भी आरोप है और उनके कई वीडियो भी वायरल हुए थे और इसकी योगी सरकार ने जांच कराई और जांच समिति ने अपनी रिपोर्ट सरकार को सौंप दी थी.

योगी सरकार ने 85 आईएएस अफसरों को दिया प्रमोशन का तोहफा

यूपी की योगी आदित्याथ सरकार ने नए साल पर प्रदेश के 85 आईएएस अफसरों को प्रमोशन का तोहफा दिया है. राज्य सरकार ने 1997 बैच के तीन आईएएस अफसरों को सचिव से प्रमुख सचिव के पद पर प्रमोट किया है. वहीं नौ आईएएस अफसरों को डीएम या विशेष सचिव से सचिव में प्रोन्नति दी गई है. इससे साथ ही 2009 बैच के 28 आईएएस अफसरों को सेलेक्शन ग्रेड और 2013 बैच के 30 आईएएस अफसरों को जूनियर एडमिनिस्ट्रेटिव ग्रेड दिया गया है. इसके साथ ही राज्य सरकार ने 2018 बैच के 15 आईएएस अअफसरों को सीनियर टाइम स्केल दिया गया है.

हरिओम का प्रमोशन रोका

राज्य सरकार ने 1997 बैच के तीन आईएएस अफसरों को सुपर टाइम वेतनमान देकर प्रमुख सचिव के पद पर प्रमोट किया है और इसमें प्रोफार्मा प्रमोशन महेंद्र प्रसाद अग्रवाल और डॉ शमुंगा सुंदरम एमके और कामिनी चौहान रत्न को दिया गया है. ये तीनों अफसर केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर हैं. जबकि जांच के चलते डॉ हरिओम का प्रमोशन रोका गया है.हरिओम राज्य में अपनी सेवाएं दे रहे हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button