उत्तर-प्रदेश

मेरठ में प्रसपा की रैली में कंबल के लिए मची लूट! भगदड़ में कई महिलाएं घायल

उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव 2022 के मद्देनजर सभी राजनीतिक पार्टियों ने अपनी-अपनी कमर कस ली है. वहीं, आज मेरठ में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी की रैली में भीड़ बेकाबू हो गई. इस दौरान प्रसपा नेता अमित जानी की चुनावी रैली में कंबल बांटने का कार्यक्रम रखा गया था. जहां कंबलों की लूट शुरू होने से वहां भगदड़ मच गई. मीडिया रिपोर्टस के अनुसार इस कार्यक्रम में कई लोगों के दबकर घायल होने की खबर है. इसे देखते हुए पुलिस ने कार्यक्रम के संयोजक अमित जानी को हिरासत में ले लिया है.

दरअसल, मेरठ में सोमवार को सिवालखास क्षेत्र के जानी खुर्द मे गंगनहर किनारे क्रिकेट ग्राउंड पर प्रसपा नेता अमित जानी ने जनसंकल्प महारैली की थी. इस चुनावी रैली में जानी क्षेत्र के लोगों को कंबल बंटना था. जैसे ही कंबल बंटना शुरू हुआ. वहीं, भीड़ बेकाबू हो गई और रैली में भगदड़ मच गई. इस दौरान भीड़ कंबलों के लिए आपस में भिड़ गई और माहौल बिगड़ने लगा. जहां भगदड़ में एक महिला गंभीर घायल हुई. जिसे सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है, वहीं, अन्य बाकी घायलों को प्राथमिक इलाज के बाद पुलिस ने घर भेज दिया. आलम यह हो गया था कि करीब एक घंटे तक लूटपाट का सिलसिला चलता रहा. कम्बल पाने की आस में महिलाएं भी भीड़ में घुस गई और बेकाबू भीड़ में दब गई. इस दौरान कुछ के कुंडल खींच लिए गए तो कुछ बेहोश हो गई हैं.

पुलिस ने लाठी भांज कर भीड़ को किया नियंत्रण

बता दें कि प्रसपा की रैली में कंबल के लिए बेकाबू भीड़ की स्थिति बिगड़ती देख पुलिस ने मोर्चा संभाला, जिसके बाद पुलिस ने हल्का बल प्रयोग भी किया. वहीं, पुलिस ने कड़ी मशक्कत के बाद भीड़ पर काबू पाया. मगर कोरोना संक्रमण के फैलने के दौरान कंबल के नाम पर जुटाई गई भीड़ को लेकर सवाल उठ रहे हैं. ये आयोजन महामारी को दावत दे रहे हैं. यदि बेकाबू भीड़ और भारी अव्यवस्था के चलते अगर किसी की मौत हो जाती तो उसका जिम्मेदार कौन होता है.

कंबल पाने के चलते कार्यक्रम स्थल पर मची भगदड़

गौरतलब है कि सिवालखास विधानसभा जानी खुर्द में शिवपाल यादव की पार्टी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के नेता अमित जानी ने अपनी चुनावी रैली की थी. हालांकि रैली में शिवपाल यादव के आने की भी चर्चा थी, लेकिन वे नहीं पहुंचे. जहां नेता अमित जानी ने रैली में भीड़ को कंबल देने का भी वादा किया था. इसलिए यहां भारी भीड़ पहुंच गई. वहीं, जैसे ही कंबल बंटना शुरू हुआ,भीड़ में कंबलों के लिए मारामारी होने लगी. ऐसे में लोग एक दूसरे पर चढ़कर कंबल के लिए भिड़ने लगे.

रैली में 100 लोगों की परमिशन लेकर बुलाई हजारों की भीड़

वहीं, रैली में भगदड़ मचने की जानकारी मिलने पर रोहटा, जानीखुर्द, टीपीनगर, सरुरपुर समेत 4 थानों की फोर्स औऱ 1 कंपनी पीएसी मौके पर पहुंची. जहां रैली के आयोजक नेता अमित जानी को पुलिस ने हिरासत में ले लिया और रोहटा थाने ले आई. बताया जा रहा है कि यहां केवल 100 लोगों के आने की परमिशन ली थी, जबकि रैली में 5 हजार से ज्यादा की भीड़ पहुंच गई. हालांकि पुलिस और पीएसी ने मौके पर पहुंचकर भीड़ को शांत कराकर घर भेजा.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button