उत्तर-प्रदेश

काला झंडा दिखाने वाली कांग्रेस नेता को बदमाशों ने मारी गोली, सुलतानपुर से लौट रही थीं घर

लोकतंत्र में विरोध दर्ज कराना भी जान का खतरा हो सकता है. उत्तर प्रदेश के सुलतानपुर जिले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को काला झंडा दिखाने वाली कांग्रेस नेता को बदमाशों ने गोली मार दी. गोली कांग्रेस नेता रीता यादव के पैर में लगी. उन्हें घायल अवस्था में सीएचसी में भर्ती कराया गया था. जहां से डॉक्टरों ने महिला को हायर सेंटर रेफर कर दिया.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, हाल ही में सपा छोड़कर कांग्रेस पार्टी में शामिल होने वाली रीता यादव पोस्टर बैनर बनवाने सुल्तानपुर गईं थी. वहां से लौटकर वह अपने घर जा रही थीं. उसी समय हाइवे पर लंभुआ के पास तीन लोगों ने ओवर टेक करके उनकी गाड़ी को रोका और गाली देते हुए रीता को गोली मार दी. हमलावर बदमाश घटना को अंजाम देकर मौके से फरार हो गए. इसके बाद घायल अवस्था में रीता यादव को पहले सीएचसी लंभुआ में भर्ती कराया गया. यहां के डॉक्टरों ने उन्हें सुलतानपुर जिला अस्पताल रेफर कर दिया, जहां उनका इलाज चल रहा है. पुलिस हमलावारों की तलाश कर रही है.

लंभुआ इलाके के डीएसपी सतीश चंद शुक्ला ने फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे. पुलिस ने जांच पड़ताल करने के बाद कांग्रेस नेता रीता यादव के बयान दर्ज कर लिए हैं. डीएसपी सतीश चंद शुक्ला ने बताया कि मामला संज्ञान में है. रीता यादव के पैर में गोली लगी है. मामले में हमलवरों की तलाश की जा रही है.

ड्राइवर की कनपटी पर पिस्‍टल लगाने का विरोध किया तो मार दी गोली

बदमाशों के हमले में घायल बकौल रीता यादव, वो पोस्टर बैनर बनवाने सुल्तानपुर गई थीं. वहां से लौटकर घर जा रही थी. उसी समय हाइवे पर लंभुआ के पास तीन लोगों ने ओवर टेक करके उनकी बोलेरो को रोका और गाली देते हुए जान से मारने की धमकी. इसी बीच ड्राइवर की कनपटी पर पिस्टल लगा दिया. इसी बात पर उन्होंने पिस्टल लगाने वाले को एक तमाचा मार दिया. तो उसने उन्हें गोली मार दी. इसके बाद हमलावर फरार हो गए.

16 नवंबर 2021 को पीएम मोदी पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का शुभारंभ करने जिले के कूरेभार स्थित अरवल कीरी में सभा कर रहे थे. तभी रीता यादव ने उन्हें काला झंडा दिखाया था. पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार करके जेल भेजा था और दो दिन बाद उन्‍हें जमानत मिल गई थी. 17 दिसंबर 2021 को रीता यादव कांग्रेस में शामिल हुईं थी.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button