राष्ट्र-राज्य

कोरोना के बढ़ते मामलों पर केंद्र ने 10 राज्यों को लिखी चिट्ठी, कहा- कोविड कलस्टर मिलने पर लागू हों नाइट कर्फ्यू जैसे उपाय

देशभर में सामने आ रहे कोविड मामलों को देखते हुए ऐसा प्रतीत हो रहा है कि कोरोनावायरस की रफ्तार में कमी आई है. लेकिन कुछ राज्यों में अभी भी कोविड की रफ्तार तेज नजर आ रही है. ऐसे में केंद्र सरकार इसे लेकर सतर्क नजर आ रही है. यही वजह है कि केंद्र स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के सचिवों/प्रशासकों को पत्र लिखकर जिन जिलों में तेजी से कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं, उन पर नजर रखने को कहा है. वहीं, एक बार फिर देश में कोविड को लेकर लापरवाही देखने को मिल रही है, क्योंकि लोग मास्क नहीं लगा रहे हैं.

दरअसल, केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने सभी राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों/प्रशासकों को लिखा है कि 10 राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों के 27 जिलों में पिछले दो हफ्तों से कोविड के अधिक संख्या में मामले रिपोर्ट किए जा रहे हैं. ऐसे में इन जिलों पर बहुत ही बारीकी से नजर रखने की जरूरत है. भूषण ने कहा है कि कोविड कलस्टर के मामले की पहचान होने पर रणनीतिक उपाय करने होंगे. इसमें नाइट कर्फ्यू, लोगों के इकट्ठा होने पर बैन लगाना, विवाह और अंतिम संस्कार में शामिल होने वाले लोगों की संख्या को कम करना शामिल है.

केरल और महाराष्ट्र में एक्टिव केस की संख्या अधिक

इससे पहले, शुक्रवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि पिछले 14 दिनों में 10,000 से कम कोरोना केस सामने आए हैं. केरल और महाराष्ट्र में एक्टिव केस की संख्या अधिक हैं. जहां केरल में 43 फीसदी एक्टिव केस हैं तो महाराष्ट्र में ये संख्या 10 फीसदी पर है. वहीं, ICMR के महानिदेशक बलराम भार्गव ने कहा कि 50 फीसदी से अधिक पॉजिटिविटी होने पर जिला स्तरीय प्रतिबंध लागू होंगे. साथ ही हमें डर का माहौल पैदा करने से रोकने के लिए मदद की जरूरत है.

देश में 559 दिनों में सबसे कम एक्टिव केस

वहीं, देश में पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के 7,992 नए मामले सामने आए हैं, जिसके बाद कोरोना वायरस से संक्रमितों की कुल संख्या 3,46,682,736 हो गई है. एक्टिव केस की संख्या गिरकर 93,277 हो गई है, जो 559 दिनों में सबसे कम है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शनिवार सुबह आठ बजे जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, 393 और मरीजों की मौत के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 4,75,128 हो गई. देश में लगातार 44 दिन से संक्रमण के दैनिक मामलों की संख्या 15,000 से नीचे है.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि एक्टिव मरीजों की संख्या गिरकर 93,277 हो गई, जो कि कुल मामलों का 0.27 फीसदी है. यह संख्या पिछले 559 दिन में सबसे कम है. वहीं, राष्ट्रीय स्तर पर मरीजों के स्वस्थ होने की दर 98.36 फीसदी है और यह मार्च, 2020 के बाद से सबसे ज्यादा है. पिछले 24 घंटे में उपचार करा रहे मरीजों की संख्या में 1,666 की कमी आई है. आंकड़ों के अनुसार, दैनिक संक्रमण दर 0.64 प्रतिशत दर्ज की गयी, जो पिछले 68 दिन से दो प्रतिशत से कम है. साप्ताहिक संक्रमण दर 0.71 प्रतिशत दर्ज की गयी, जो पिछले 27 दिन से एक प्रतिशत से कम है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button