अन्य खबर

15 दिसंबर को चित्रकूट में होगा ‘हिंदू एकता महाकुंभ’, संघ प्रमुख और फिल्मी जगत की हस्तियों समेत जुटेंगे 5 लाख से ज्यादा लोग

धर्मनगरी चित्रकूट में 15 दिसंबर को ‘हिन्दू एकता महाकुंभ’ (Hindu Ekta Mahakumbh) का आयोजन होने जा रहा है. ऐसे में इस कार्यक्रम में देशभर के कई नामी साधु संतों के अलावा आरएसएस (RSS) के वरिष्ठ पदाधिकारी भी शामिल होंगे. जिसमें मुख्य अतिथि संघ प्रमुख मोहन भागवत (Mohan Baghwat) होंगे. खास बात यह होगी कि इसमें साधु-संतों, राजनेताओं समेत बॉलीवुड से जुड़ी हस्तियां भी शिरकत करेंगी. वहीं आगामी विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी भी RSS के एजेंडे को धार देने की कोशिश करेगी.

चित्रकूट में पद्म विभूषण जगद्गुरु स्वामी रामभद्राचार्य की अध्यक्षता में आगामी 15 दिसंबर को हिंदू एकता महाकुंभ का आयोजन होगा. इसमें लव जिहाद, जनसंख्या नियंत्रण कानून समेत हिन्दुत्व की रक्षा से जुड़े 12 मुद्दों पर मंथन किया जाएगा. इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि संघ प्रमुख मोहन भागवत होने वाले हैं. वहीं इस आयोजन में धर्म-अध्यात्म के साथ ही राजनीति और बॉलीवुड से जुड़ी अनेक हस्तियां भी शिरकत करेंगी. जानकारी के मुताबिक इस कार्यक्रम के लिए श्रीराम तपोभूमि में भारत देश के कई कोनों से करीब 5 लाख हिंदू जुटने वाले हैं.

पांच लाख से ज्यादा हिन्दुओं के शामिल होने का अमुमान

चित्रकूट में हिन्दू महाकुंभ का आयोजन तुलसी पीठाधीश्वर जगद्गुरु स्वामी रामभद्राचार्य कर रहे हैं. वहीं तुलसीपीठ के उत्तराधिकारी आचार्य रामचंद्र दास (जय महाराज) ने बताया कि हिन्दू महाकुंभ में मठ-मंदिरों, अखाड़ों के धर्माचार्यों, संत, महात्मा भी शामिल हो रहे हैं. शहर से लेकर गांवों तक में जाकर आमंत्रण भेजा जा रहा है. इस भव्य आयोजन में दुनियाभर से पांच लाख से अधिक हिन्दुओं के शामिल होने का अनुमान है.

BJP विधायक संजय पाठक को सौंपी गई आयोजन की जिम्मेदारी

वहीं स्वामी रामभद्राचार्य ने आयोजन की जिम्मेदारी भाजपा विधायक संजय पाठक को सौंपी है, उन्हें 15 दिसंबर को होने वाले इस आयोजन का प्रधान सेवक बनाया है. पाठक ने इसी सिलसिले में तैयारियों का जायजा लिया. कुछ दिनों पहले चित्रकूट में आचार्य रामचंद्र दास के साथ जिलाधिकारी शुभ्रांत कुमार शुक्ला, पुलिस अधीक्षक धवल जायसवाल व मुख्य विकास अधिकारी अमित आसेरी ने बेड़ी पुलिया के समीप स्थित कार्यक्रम स्थल का दौरा किया. अधिकारियों ने सुरक्षा, चिकित्सा, पार्किंग, ठहरने की व्यवस्था की तैयारियों की रूपरेखा देखी.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button